श्याम चंदा है श्यामा चकोरी – भजन (Shyam Chanda Hai Shyama Chakori)

jambh bhakti logo

श्याम चंदा है श्यामा चकोरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

श्याम रसिया है श्यामा रसीली,
कृष्ण छलिया है राधा शर्मीली,
कृष्ण काला है राधा है गौरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

श्याम चंदा है श्यामा चकोरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

गिरधर गोपाल गोकुल का राजा,
बृज की सरकार रानी है राधा,
कृष्ण काला है राधा है गौरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

श्याम चंदा है श्यामा चकोरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

दोनो मे प्रेम इतना है ज्यादा,
राधा मोहन है मोहन है राधा,
कृष्ण मन का मदुक राधा भौरि,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

श्री जानकी स्रोत्र - जानकि त्वां नमस्यामि (Janaki Sotra - Janki Twam Namasyami)

कार्तिक मास माहात्म्य कथा: अध्याय 34 (Kartik Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 34)

आरती: जय जय तुलसी माता (Aarti: Jai Jai Tulsi Mata)

श्याम चंदा है श्यामा चकोरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

श्याम चंदा है श्यामा चकोरी,
बड़ी सुंदर है दोनो की जोडी ॥

आरती कुंजबिहारी की | आओ भोग लगाओ प्यारे मोहन | श्री बांके बिहारी तेरी आरती गाऊं | आरती श्री बाल कृष्ण जी की | ॐ जय जगदीश हरे | मधुराष्टकम्: धरं मधुरं वदनं मधुरं | कृष्ण भजन | अच्चुतम केशवं कृष्ण दामोदरं | श्री कृष्णा गोविन्द हरे मुरारी

Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment