बम बाज रही भोले की, चारों दिशाएं: भजन (Bam Baj Rahe Bhole Ki Charo Dishaye)

jambh bhakti logo

बम बाज रही भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

अरे कौना ने बो दए धतूरा,
अरे कौना ने बो दई भंगिया,
बम बाज रहीं भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

मोरे भोला ने बो दए धतूरा,
गौरा रानी ने बो दई भंगिया,
बम बाज रहीं भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

अरे कौना ने सींचे धतूरा,
अरे कौना ने सींच दई भंगिया,
बम बाज रहीं भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

मोरे भोला ने सींचे धतूरा,
गौरा रानी ने सींच दई भंगिया,
बम बाज रहीं भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

अरे कौना ने खा लई धतूरा,
कौना ने पी लई भंगिया,
बम बाज रहीं भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

श्री पंच-तत्व प्रणाम मंत्र (Panch Tattva Pranam Mantra)

वामन अवतार पौराणिक कथा (Vamana Avatar Pauranik Katha)

गुरु प्रदोष व्रत कथा (Guru Pradosh Vrat Katha)

अरे नंदी ने खा लई धतूरा,
मोरे भोले ने पि लई भंगिया,
बम बाज रहीं भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

बम बाज रही भोले की,
चारों दिशाएं,
बम बाज रही ॥

Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment