बालाजी मने राम मिलन की आस – भजन (Balaji Mane Ram Milan Ki Aas)

jambh bhakti logo

बालाजी मने राम मिलन की आस,
बतादो कद* मिलवाओगे ।
बालाजी मने राम मिलन की आस,
बतादो कद मिलवाओगे ।

राम रटा था जब शबरी ने,
छोड़कें# आए रामनगरी ने ।
आए वह रघुनंदन के दास,
बतादो कद मिलवाओगे ।

बालाजी मने राम मिलन की आस,
बतादो कद मिलवाओगे ।

सुग्रीव राजा ने जमाना,
तेरे कारण हुया याराना ।
ओ.. बाली की काटी सास+,
बतादो कद मिलवाओगे ।

बालाजी मने राम मिलन की आस,
बतादो कद मिलवाओगे ।

रावण का वो भाई विभीषण,
रहा करें वह दिशा दक्षिण ।
अरे.. वो रहा राम के पास,
बतादो कद मिलवाओगे ।

दूल्हा बने भोलेनाथ जी हमारे: भजन (Dulha Bane Bholenath Ji Hamare)

कोई ऐसी खोल नहीं है: भजन (Koi Aisi Khol Nahin)

आरती श्री महाविष्णु देवा,आरती कीजे नरसिंह कंवर की,आरती जय जम्भेश्वर की

बालाजी मने राम मिलन की आस,
बतादो कद मिलवाओगे ।
बालाजी मने राम मिलन की आस,
बतादो कद मिलवाओगे ।

*कद = कब
#छोड़कें: छोड़कर
+सास: साँस / श्वांश

Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment