शिव शम्भू सा निराला, कोई देवता नहीं है – भजन (Shiv Shambhu Sa Nirala Koi Devta Nahi Hai)

jambh bhakti logo

शिव शम्भू सा निराला,
कोई देवता नहीं है,
जैसा भी है डमरू वाला,
कोई देवता नहीं है ॥

सर पे बसी है गंगा,
माथे पे चन्द्रमा है,
नंदी की है सवारी,
अर्धांगिनी उमा है,
गले सर्प की है माला,
कोई देवता नहीं है,
जैसा भी है डमरू वाला,
कोई देवता नहीं है ॥

अमृत की कामना से,
सब मथ रहे शिवसागर,
निकला है उससे विष जो,
सब पि गए हलाहल,
उस ज़हर को पिने वाला,
कोई देवता नहीं है,
जैसा भी है डमरू वाला,
कोई देवता नहीं है ॥

आशा हुई निराशा,
जाए तो किसके द्वारे,
तुझे छोड़ हे महेश्वर,
अब किसको हम पुकारे,
सूना है मन शिवाला,
कोई देवता नहीं है,
जैसा भी है डमरू वाला,
कोई देवता नहीं है ॥

जगदम्बे भवानी मैया, तेरा त्रिभुवन में छाया राज है: भजन (Jagdambe Bhawani Maiya Tera Tribhuwan Me Chhaya Raj Haii)

जाम्भोजी का इतिहास (Jambhoji History in Hindi)

सेंसेजी का अभिमान खंडन भाग 1

शिव शम्भू सा निराला,
कोई देवता नहीं है,
जैसा भी है डमरू वाला,
कोई देवता नहीं है ॥

Picture of Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment