मैया री एक भाई दे दे: भजन (Maiya Ri Ek Bhai Dede)

jambh bhakti logo

मैया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मेरे दर्द की दवाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मईया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी ॥
मेरी क्या है खता,

नहीं मुझको पता,
भाई क्यों नहीं मेरे,
मैया ये तो बता,
बस मुझको ये सफाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मईया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी ॥

मेरे होता जो वीर,
ना बरसता ये नीर,
ऐसी खोटी लिखी है,
क्यों मेरी तकदीर,
राखी को एक कलाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मईया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी ॥

भाई बिन कैसा प्यार,
कैसा राखी का त्यौहार,
कहे ‘सिंहपुरिया’ मेरी भी,
सुन लो पुकार,
बहना को एक सहाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मईया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी ॥

मैया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मेरे दर्द की दवाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी,
मईया री एक भाई दे दे दे दे,
ना तो मैं मर जांगी ॥

ललिता सहस्त्रनाम स्त्रोत (Lalitha Sahasranama Stotram)

महामंत्र शिवजी का, हमें प्यारा लागे: भजन (Mahamantra Shivji Ka Hame Pyara Lage)

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य कथा: अध्याय 9 (Purushottam Mas Mahatmya Katha: Adhyaya 9)

दुर्गा चालीसा | आरती: जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी | आरती: अम्बे तू है जगदम्बे काली | महिषासुरमर्दिनि स्तोत्रम् | माता के भजन

Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment