मैं भी बोलूं राम तुम भी बोलो ना: भजन (Main Bhi Bolun Ram Tum Bhi Bolo Na)

jambh bhakti logo

मैं भी बोलूं राम तुम भी बोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना ॥

तू मृत्यु लोक में आया,
तुने राम नाम नहीं गाया,
दुनिया को अपना बनाया,
यूँ माया में भरमाया,
अब तो बोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना,
मैं भी बोलु राम तुम भी बोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना ॥

श्री राम की शरण में आजा,
क्यों दुनिया के पीछे भागे,
जरा बैठ के ध्यान लगाले,
अब सुन तो ले अभागे,
दर दर डोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना,
मैं भी बोलु राम तुम भी बोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना ॥

तुने मनुष्य तन तो पाया,
विषयो में यू हीं गवाया,
मिठा है यह अमृत सा,
संतो ने स्वाद बताया,
तो रसमय होलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना,
मैं भी बोलु राम तुम भी बोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना ॥

नृसिंह भगवान की आरती (Narasimha Bhagwan Ki Aarti)

मन की तरंग मार लो - भजन (Man Ki Tarang Mar Lo Bas Ho Gaya Bhajan)

मंत्र: प्रातः स्मरण - दैनिक उपासना (Pratah Smaran Dainik Upasana)

मैं भी बोलूं राम तुम भी बोलो ना,
राम है अनमोल मुख को खोलो ना ॥

Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment