अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता – भजन (Agar Shyam Sundar Ka Sahara Na Hota)

jambh bhakti logo

अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता,
तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ।

जबसे मिली है दया हमको इनकी,
तो राहें बदल दी मेरी जिन्दगी की ।
नजारे करम का इशारा ना होता,
तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥
॥ अगर श्याम सुन्दर का…॥

इन्ही के सहारे जीए जा रहे है,
नाम का अमृत पीए जा रहे हैं ।
मेरा बिगड़ा जीवन संवारा ना होता,
तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥
॥ अगर श्याम सुन्दर का…॥

मेरे श्याम, मेरे श्याम, मेरे श्याम,
मेरे श्याम, मेरे श्याम, मेरे श्याम ।

कोई नहीं था दुनियाँ में अपना,
कन्हिया से मिलना लगता है सपना ।
कन्हिया ने हमको जो पुकारा ना होता,
तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥
॥ अगर श्याम सुन्दर का…॥

श्री गुरु जम्भेश्वर से उतरकालिन समराथल .......(-: समराथल कथा भाग 14:-)

हे जग स्वामी, अंतर्यामी, तेरे सन्मुख आता हूँ! (He Jag Swami Anataryami, Tere Sanmukh Aata Hoon!)

तुलसी आरती - महारानी नमो-नमो (Tulsi Aarti - Maharani Namo Namo)

भँवर में थी नैया, दिया है किनारा,
इन्ही की कृपा से चले है गुजारा ।
कृपा भरी दृष्टि से निहारा ना होता,
तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ॥
॥ अगर श्याम सुन्दर का…॥

अगर श्याम सुन्दर का सहारा ना होता,
तो दुनियाँ में कोई हमारा ना होता ।

Picture of Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment