अंगना पधारो महारानी: भजन (Angana Padharo Maharani)

jambh bhakti logo

अंगना पधारो महारानी,
मोरी शारदा भवानी,
शारदा भवानी मोरी,
शारदा भवानी,
करदो कृपा महारानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

ऊँची पहड़िया पे मंदिर बनो है,
मंदिर में मैया को आसन लगो है,
आसन पे बैठी महारानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

रोगी को काया दे निर्धन को माया,
बांझन पे किरपा ललन घर आया,
मैया बड़ी वरदानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

मैहर में ढूंढी डोंगरगढ़ में ढूंढी,
कलकत्ता कटरा जलंधर में ढूंढी,
विजराघवगढ़ में देखानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

मैहर को देखो या विजराघवगढ़ को,
एकई दिखे मोरी मैया के मढ़ को,
महिमा तुम्हारी नही जानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

मैया को भार सम्भाले रे पंडा,
हाथो में जिनके भवानी को झंडा,
झंडा पे बैठी महारानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

माँ बगलामुखी अष्टोत्तर-शतनाम-स्तोत्रम् (Maa Baglamukhi Ashtottara Shatnam Stotram)

अहोई माता आरती (Ahoi Mata Aarti)

मोको कहां ढूंढे रे बंदे - भजन (Moko Kahan Dhunde Re Bande)

महिमा तुम्हारी भगत जो भी गाए,
‘मोनी’ भी मैया के चरणन में आए,
करदो मधुर मोरी वाणी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

अंगना पधारो महारानी,
मोरी शारदा भवानी,
शारदा भवानी मोरी,
शारदा भवानी,
करदो कृपा महारानी,
मोरी शारदा भवानी,
अंगना पधारो महारानी ॥

दुर्गा चालीसा | आरती: जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी | आरती: अम्बे तू है जगदम्बे काली | महिषासुरमर्दिनि स्तोत्रम् | माता के भजन

Picture of Sandeep Bishnoi

Sandeep Bishnoi

Leave a Comment