आरती – कु कु केरा चरण,आरती – आरती होजी समराथल देव

          आरती – कु कु केरा चरण

कु कु केरा चरण
कु कु केरा चरण

कु कु केरा चरण पधारो गुरू जम्भदेव,

 साधु जो भक्त थारी आरती करे।

महात्मा पुरूष थारो ध्यान धरे ।

जम्भ गुरू ध्यावे सो सर्व सिद्धि पावे ।

क्रोड़ जन्म किया पाप झरे ।

हृदय जो हवेली मांही रहो प्रभु रात दिन ।

मोतियन की प्रभु माला जो गले ।

कर में कमंडल शीष पर टोपी नयना माने दोय,

मसाल सी जरे ।

कूं कूं केरा……..

सोने रो सिंहासन प्रभु रेशम केरी गादियां,

फूला हांदी सेज प्रभु बैंसया ही सरे ।

प्रेम रा पियाला थाने पावे थारा साधु जन,

मुकुट छत्र सिर चंवर ढुले ।

 कूं कूं केरा..

शंख जो शहनाई बाजे झींझा करे झनझन

भेरी जो नगारा बाजे नोपता धुरे ।

कंचन केरो थाल कपूर केरी बातियां

अगर केरो धूप रवि इन्द्र जो झुऐ

कूं कूं केरा……

मजीरा टिकोरा झालर घंटा करे धननन

शब्द सुण्यासु सारा पातक जरै ।

 शेष जो सेवक थारे, शिव से भंडारी,

 ब्रह्मा से खजांची सो जगत धरे ।

 कुकू केरा……

आरती में आवे आयं शीश जो नवावे,निश जागरण सुण्यां यमराज जो डरे ।

 साहबरामसुनावे गावे नाव निधि पावे ।

 सीधो मुक्ति सिधावे काल कर्म जो टोरे ।

 कूं कूं केरा………..

आरती – आरती होजी समराथल देव

कु कु केरा चरण
कु कु केरा चरण

आरती होजी समराथल देव विष्णु हर की आरती जय ।

थारी करे हो हांसलदे मायं थारीकरे हो,

 भक्त लिव लाय विष्णु हरि आरती जै

सुर तेतीसां सेवक जाके, इन्द्रादिक सब देव ।

 ज्योति स्वरूपी आप निरंजन । कोई एक जानत भेव।

विष्णु…..

पूर्ण सिद्ध जम्भ गुरू स्वामी अवतरे केवल एक।

अंधकार नाशन के कारण हुए आप अलेख ।

 विष्णु…..

समराथल हरि आन विराजे तिमिर भयो सब दूर ।

सांगा राणा और नरेशा आये सकल हजूर ।

विष्णु……

समराथल की अद्भुत शोभा वर्णीन जात अपार ।

संत मण्डली निकट विराजे निर्गुण शब्द उचार ।

 विष्णु……

वर्ष इक्कावन देव दयाकर कीन्हो पर अपकार ।

ज्ञान ध्यान के शब्द सुनाये, तारण भव फल पार ।

विष्णु……

पंथ जाम्भाणो सत्य कर जाणों हे खांडे की धार ।

सत् प्रीत सों करो कीर्तन इच्छा फल दातार ।

 विष्णु….

आन पंथ को चित से टारो, जम्भेश्वर उर ध्यान ।

होम जाप शुद्ध भाव सों कीजो पावो पद निर्वाण ।

विष्णु….

भक्त उद्धारण काज संवारण श्री जम्भ गुरू निज नाम ।

 विघ्न निवारण शरण तुम्हारी मंगल के सुख धाम ।

  विष्णु…..

लोहट नंदन दुष्ट निकन्दन श्री जम्भ गुरू अवतार ।

ब्रह्मानंद शरण सतगुरू की आवागवण निवार ।

विष्णु……

jambhbhakti.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.